WPL Auction 2024

WPL Auction में कुल 165 खिलाड़ियों की नीलामी होगी, जिसमें अन्य फ्रेंचाइजी भी अपनी टीम को और बेहतर बनाने की कोशिश करेंगी। डब्ल्यूपीएल की मिनी नीलामी में 30 स्लॉट (9 विदेशी खिलाड़ियों के लिए) होगी, जिसमें 104 भारतीय और 61 विदेशी (सदस्य देशों की 15) खिलाड़ी शामिल होंगे। यह नीलामी वीपीएल के दूसरे सीजन से पहले फरवरी-मार्च में हो सकती है।

पिछले सीजन में गुजरात जायंट्स ने वोमेन्स प्रीमियर लीग (डब्ल्यूपीएल) में अंतिम स्थान पर रहकर खेला था। शनिवार को होने वाली नीलामी में वह अपनी टीम को और मजबूत करने का प्रयास करेगा, जिसके लिए उसके पास अन्य चार टीमों की तुलना में सबसे ज्यादा पैसे हैं। गुजरात जायंट्स पिछले सीजन में पांचवें स्थान पर रहा था, जबकि रॉयल चैलेंजर्स बेंगलोर (आरसीबी) चौथे स्थान पर रही थी।

वीपीएल नीलामी में कुल 165 खिलाड़ियों की नीलामी होगी, जिसमें अन्य फ्रेंचाइजी भी अपनी टीम को और बेहतर बनाने की कोशिश करेंगी। 30 स्लॉट (9 विदेशी खिलाड़ियों के लिए) होंगे जिनमें से 104 भारतीय और 61 विदेशी (सदस्य देशों की 15) खिलाड़ी शामिल होंगे। इस नीलामी में 56 कैप्ड और 109 अनकैप्ड (जिन्होंने कोई अंतरराष्ट्रीय मैच नहीं खेला हो) खिलाड़ी शामिल होंगे।

फरवरी-मार्च में टूर्नामेंट का आयोजन हो सकता है

डब्ल्यूपीएल के दूसरे सीजन का आयोजन आईपीएल से पहले फरवरी-मार्च में हो सकता है। दो खिलाड़ियों को 50 लाख रुपये के उच्चतम ‘रिजर्व प्राइस’ में रखा गया है, जिनमें से एक डायंड्रा डोटिन और दूसरी ऑस्ट्रेलियाई क्रिकेटर किम गार्थ हैं। ऑस्ट्रेलिया की ऑलराउंडर एनाबेल सदरलैंड और जार्जिया वारेहैम उद्घानट सीजन में खेली थीं, जिनका आधार मूल्य 40 लाख रुपये है।

इन विदेशी खिलाड़ियों से टीमें करेंगी दांव

दक्षिण अफ्रीका की शबनम इस्माइल और इंग्लैंड की विकेटकीपर बल्लेबाज एमी जोंस का भी आधार मूल्य 40 लाख रुपये है। भारत की अनुभवी क्रिकेटर वेदा कृष्णमूर्ति, पूनम राउत, सुषमा वर्मा, एकता बिष्ट, गौहर सुल्ताना और मोना मेशराम का आधार मूल्य 30 लाख रुपये है। इसी ब्रैकेट में ऑस्ट्रेलिया की एरिन बंर्स और सोफी मोलिनेक्स, इंग्लैंड की डेनियल वाइट और टैमी ब्यूमोंट, श्रीलंकाई कप्तान चामरी अटापट्टू और दक्षिण अफ्रीका की नादिने डि क्लर्क शामिल हैं।

टीमों के पास बचे हैं इतने पैसे

नीलामी में गुजरात जायंट्स के पास सबसे ज्यादा 5.95 करोड़ रुपये हैं और उन्हें अपनी टीम को तैयार करने के लिए 10 नई खिलाड़ियों को चुनना होगा। आरसीबी के पास 3.35 करोड़ रुपये की राशि है और उन्हें तीन विदेशी सहित सात खिलाड़ियों की आवश्यकता है, ताकि उनकी 18 सदस्य टीम पूरी हो सके।

टीम को मजबूत करने पर होगी नजर

दिल्ली कैपिटल्स के पास 2.25 करोड़ रुपये हैं और उनके पास 15 खिलाड़ी हैं, जिनसे वह अधिकतम तीन खिलाड़ियों को शामिल कर सकते हैं, जिनमें से एक विदेशी खिलाड़ी भी हो। यूपी वॉरियर्स के पास चार करोड़ रुपये हैं, जिन्हें पांच स्थान भरने हैं, जिनमें से एक विदेशी खिलाड़ी भी है। चैंपियन मुंबई इंडियंस को भी पांच खिलाड़ियों को टीम में शामिल करना है, जिनमें से एक विदेशी खिलाड़ी भी होंगी। मुंबई इंडियंस के पास 2.1 करोड़ रुपये की राशि है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *